Explained National

RBI ने दी राहतें, रेपो-रिवर्स रेपो रेट में कटौती, EMI होगी कम

rbi emi middle class repo rate corona package

दुनियाभर के तकरीबन सभी देश कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में हैं। स्वाभाविक है कि इससे देश की अर्थव्यवस्था पर भी असर पड़ रहा है, लेकिन मोदी सरकार हर जरूरी फैसले लेकर देश को इस संकट से उबारने का पूरा प्रयास कर रही है। संकट की इस घड़ी में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके रेपो और रिवर्स रेपो रेट में कटौती का ऐलान किया। रेपो रेट में कटौती से होम लोन और कार लोन की EMI में भारी कमी आएगी। आपकी जेब पर पड़ने वाला बोझ घट जाएगा। इस लेख में जानिए आरबीआई ने मध्यम वर्ग के साथ देश को क्या राहतें दी हैं।

कृपया ध्यान दीजिए
  • रेपो रेट में 0.75% कमी, सभी कर्ज सस्ते होंगे
  • टर्म लोन की किश्त चुकाने में तीन महीने की छूट, ग्राहकों और बैंकों को राहत मिलेगी
  • तीन महीने टर्म लोन की किश्त नहीं चुकाने पर डिफॉल्ट नहीं माना जाएगा
  • वर्किंग कैपिटल पर ब्याज के भुगतान में भी 3 महीने की छूट, कंपनियों को राहत मिलेगी
  • कैश रिजर्व रेश्यो 1% घटाया, इससे बैंकों के पास ज्यादा कैश रहेगा
  • आरबीआई के फैसलों से सिस्टम में 3.74 लाख करोड़ रुपए की नकदी बढ़ेगी 

आरबीआई ने बड़े पैमाने पर दर कटौती की घोषणा की
  • 75 बीपीएस द्वारा रेपो दर में भारी कमी
  • रेपो दर 5.15% से घटकर 4.4% हो गई
  • एलएएफ 90 आधार अंकों से घटकर 4% हो गया
  • यह बैंकों के लिए RBI के पास निष्क्रिय जमा के लिए अनाकर्षक है
  • इससे बैंक अर्थव्यवस्था के उत्पादक क्षेत्रों को अधिक ऋण देंगे

भारतीय अर्थव्यवस्था में आरबीआई ने 3.74 लाख करोड़ रुपये खर्च किए
  • सीआरआर में 1 वर्ष के लिए 100 बीपीएस की कमी की गई
  • मार्जिनल स्टैंडिंग फैसिलिटी 2% वैधानिक तरलता अनुपात से 3% तक बढ़ गई
  • यह एलएएफ विंडो के तहत अन्य 37 लाख तरलता लाता है
  • भारतीय अर्थव्यवस्था में इसने 74 लाख करोड़ रुपए की राहत प्रदान की है

RBI ने सभी ऋण भुगतान पर अधिस्थगन की घोषणा की
  • वाणिज्यिक बैंकों और एनबीएफसी सहित सभी ऋण संस्थानों द्वारा सभी ऋण अदायगी के लिए 3 महीने की मोहलत
  • कार्यशील पूंजी पर ब्याज भुगतान भी सभी के लिए 3 महीने के लिए टाल दिया गया
  • इस स्थगन से संपत्ति की गुणवत्ता में गिरावट नहीं आएगी
  • इससे मध्यम वर्ग और एमएसएमई उद्यमियों को बेहद आवश्यक राहत मिलेगी

कोरोना वायरस की वजह से देश में 21 दिन का लॉकडाउन चल रहा है। इससे अर्थव्यवस्था और जनजीवन प्रभावित हो रहा है। मोदी सरकार ने गुरुवार को 1.70 लाख करोड़ रुपए के राहत पैकेज का ऐलान किया था। इसमें गरीब, किसान, मजदूर, महिला, बुजुर्ग, विधवा और दिव्यांगों को राहत के ऐलान किए गए थे। संकट की इस घड़ी में सरकार और नागरिकों को मिलकर कोरोनी को हराना होगा और इस महामारी युद्ध से सकुशन बाहर आना होगा। पाठक सरकार के दिशा निर्देशों को पालन करते रहें। सोशल डिस्टेंसिंग बनाएं और साफ-सफाई का पूरा ख्याल रखें।

Share