Explained National

पीएम मोदी का सम्बोधन: जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में एक नए युग की शुरुआत

PM Modi speech jammu kashmir laddakh

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनुच्छेद 370 और 35A हटाने के बाद राष्ट्र को संबोधित किया। अपने संबोधन में पीएम मोदी ने नए जम्मू कश्मीर और नए लद्दाख के निर्माण का वादा किया। साथ ही पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के लोगों को भरोसा दिलाया कि धीरे-धीरे हालात सामान्य हो जाएंगे। पीएम मोदी ने कहा कि आपके समर्थन ने मेरा विश्वास बढ़ाया है कि ‘बदलाव हो सकता है। इस लेख में पीएम मोदी के संबोधन की खास बातें सम्मिलित हैं।

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के साथ सभी भारतीयों को हृदय से बधाई, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में ये नए युग की शुरुआत है।

एक राष्ट्र के तौर पर, एक परिवार के तौर पर, आपने, हमने, पूरे देश ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है। सरदार पटेल, बाबा साहब अंबेडकर, श्यामा प्रसाद मुखर्जी, अटल जी के साथ करोड़ों नागरिकों का सपना पूरा हुआ है।

धारा 370 और 35 A ने कैसे किया जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का नुकसान

धारा 370, 35 A ने अलगाववाद, आतंकवाद और परिवारवाद के सिवाय कुछ नहीं दिया, धारा 370, धारा 35 A का पाकिस्तान एक शस्त्र के रुप में इस्तेमाल कर रहा था। 42,000 से ज्यादा निर्दोषों को धारा 370, धारा 35 A के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी।

देश के अन्य राज्यों में शिक्षा का अधिकार है, पर जम्मू-कश्मीर के बच्चे इससे वंचित थे।

जम्मू-कश्मीर की बेटियों को उनके हक से वंचित रखा गया।

जम्मू-कश्मीर के सफाई कर्मचारी देश भर में लागू सफाई कर्मचारी एक्ट से वंचित थे।

देश के अन्य राज्यों में दलितों पर अत्याचार रोकने के लिए सख्त कानून लागू है,  लेकिन जम्मू-कश्मीर में ऐसा नहीं था।

देश के अन्य राज्यों में श्रमिकों के हितों की रक्षा के लिए न्यूनतम मजदूरी अधिनियम लागू है, लेकिन जम्मू-कश्मीर में ये सिर्फ कागजों पर ही मिलता था।

जम्मू-कश्मीर में दशकों से, हजारों की संख्या में ऐसे भाई-बहन रहते हैं, जिन्हें लोकसभा के चुनाव में तो वोट डालने का अधिकार था, लेकिन वो विधानसभा और स्थानीय निकाय के चुनाव में मतदान नहीं कर सकते थे।

अब भारत सरकार कैसे करेगी जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का विकास

जम्मू-कश्मीर राज्य के कर्मचारियों, पुलिसकर्मियों को अन्य केंद्र शासित प्रदेशों की तरह सुविधाओं पर जोर रहेगा।

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में सभी केंद्रीय और राज्य की रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया शुरु होगी।

केंद्र की पब्लिक सेक्टर यूनिट्स और प्राइवेट सेक्टर की कंपनियों को भी रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

हमने जम्मू-कश्मीर प्रशासन में एक नई कार्य संस्कृति लाने, पारदर्शिता लाने का प्रयास किया है और पारदर्शिता का नतीजा है कि IIT, IIM, एम्स, हों, तमाम इरिगेशन प्रोजेक्ट्स हो, पावर प्रोजेक्ट्स हों, या फिर एंटी करप्शन ब्यूरो, इन सबके काम में तेजी आई है।

सेना और अर्धसैनिक बलों द्वारा स्थानीय युवाओं की भर्ती के लिए रैलियों को आयोजित किया जाएगा।

केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के राजस्व घाटा प्रभाव को कम करने का प्रयास करेगी।

गवर्नर रूल की वजह से जम्मू-कश्मीर में गुड गवर्नेंस का प्रभाव जमीन पर उतरने लगा है।

सड़क कनेक्टिविटी, रेल लाइन, एयरपोर्ट सभी साधनों को तेजी से बढ़ाने का प्रयास।

हम सभी चाहते हैं कि आने वाले समय में जम्मू-कश्मीर विधानसभा के चुनाव हों, नई सरकार बने, मुख्यमंत्री बनें। जम्मू-कश्मीर के लोगों को मैं भरोसा देता हूं कि ईमानदारी से पारदर्शी वातावरण में जम्मू-कश्मीर का जनप्रतिनिधि जनता के द्वारा ही चुना जाएगा।

मैं राज्य के गवर्नर से ये भी आग्रह करूंगा कि ब्लॉक डवलपमेंट काउंसिल का गठन, जो पिछले दो-तीन दशकों से लंबित है, उसे पूरा करने का काम भी जल्द से जल्द किया जाए।

प्रधानमंत्री मोदी का जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों पर पूरा विश्वास

मुझे पूरा विश्वास है कि जम्मू-कश्मीर की जनता अच्छे शासन और पारदर्शिता के वातावरण में, नए उत्साह के साथ अपने लक्ष्यों को प्राप्त करेगी।

इस नई व्यवस्था द्वारा हम सब मिलकर आतंकवाद, अलगाववाद से राज्य को मुक्त कराएंगे।

धरती का स्वर्ग विकास की नई ऊंचाइयां प्राप्त कर विश्व में अपनी पहचान बनाएगा।

पंचायत चुनावों की तरह जम्मू-कश्मीर में विधानसभा के चुनाव होंगे। चुने हुए पंच और प्रधानों की वजह से जम्मू-कश्मीर में ग्रामीण स्तर पर तेजी से काम हुआ है, महिला सरपंचों ने कमाल का काम किया है। मुझे पूरा विश्वास है कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद पंचायत सदस्यों को काम करने का मौका मिलेगा तो वो कमाल कर देंगे।

दशकों के परिवारवाद ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं को नेतृत्व का अवसर ही नहीं दिया। अब मेरे युवा, जम्मू-कश्मीर के विकास का नेतृत्व करेंगे और उसे नई ऊंचाई पर ले जाएंगे। मैं नौजवानों, वहां की बहनों-बेटियों से आग्रह करूंगा कि अपने क्षेत्र के विकास की कमान खुद संभालिए।

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के विकास के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने किया देश से आग्रह

जम्मू-कश्मी और लद्दाख में दुनिया का सबसे बड़ा पर्यटक स्थल बनने की क्षमता है, जम्मू-कश्मीर देश के साथ दुनिया के फिल्मकारों की पसंदीदा जगह बनेगी, मैं देश के फिल्मकारों से आह्वान करता हूं।

टेक्नोलॉजी की दुनिया से जुड़े लोग अपनी नीति और फैसलों में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को ध्यान में रखकर टेक्नोलॉजी के विस्तार पर गौर करें।

लद्दाख में स्पीरिचुअल टूरिज्म, एडवेंचर टूरिज्म औरइकोटूरिज्म का सबसे बड़ा केंद्र बनने की क्षमता है, सोलर पावर जनरेशन का भी लद्दाख बहुत बड़ा केंद्र बन सकता है।

मैं देश के उद्यमियों से आग्रह करूंगा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की क्षेत्रीय चीजों को दुनियाभर में पहुंचाने का काम करें।

केसर का रंग हो या कहवा का स्वाद, सेब हो या खुबानी, लद्दाख के हर्बल को दुनिया में पहचान मिलेगी।

मैं हर देशवासी को ये भी कहना चाहता हूं कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों की चिंता, हम सबकी चिंता है, उनके सुख-दुःख, उनकी तकलीफ से हम अलग नहीं हैं

माहौल बिगाड़ने वालों से किया सचेत

विपक्ष से देशहित में व्यवहार करने का आग्रह

धारा 370 से मुक्ति एक सच्चाई है, हालात बिगाड़ने वाले मुट्ठी भर लोगों को जवाब जम्मू-कश्मीर के ही देशभक्त लोग डटकर कर रहे हैं।

आतंकवाद और अलगाववाद को बढ़ावा देने की पाकिस्तानी साजिशों के विरोध में जम्मू-कश्मीर के ही देशभक्त लोग डटकर खड़े हुए हैं।

भारतीय संविधान पर भरोसा करने वाले हमारे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के भाई-बहनों को अच्छा जीवन जीने का अधिकार है, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हित में एकजुट होकर हर देशवासी को कार्य करना है।

एक नए युग की शुरुआत की बधाइयां

ईद के लिए आप सभी को बहुत-बहुत शुभकामनाएं,

ईद पर अपने घर जाने वाले हर कश्मीरी को सरकार हरसंभव सहयोग प्रदान करेगी।

आपके समर्थन ने मेरा विश्वास बढ़ाया है ‘बदलाव हो सकता है’, कश्मीर हमारा मुकुट है।

पुंछ के शहीद औरंगजेब के दोनों भाई सेना में भर्ती होकर देश की सेवा कर रहे हैं, बलिदानियों का सपना शांत, सुरक्षित, समृद्ध जम्मू-कश्मीर बनाने का था। जम्मू-कश्मीर में शांति और खुशहाली विश्व शांति को बढ़ावा देती है।

आइए हम सब मिलकर नए भारत के साथ नए जम्मू-कश्मीर और नए लद्दाख का भी निर्माण करें।

Share