Explained International

पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत विश्व में मानवता का सच्चा दोस्त बनकर उभरा

pm modi global leadership coronavirus global pandemic medicine

कोरोना से लड़ाई में मोदी कैसे विश्व गुरु की भूमिका निभा रहे हैं, किस विश्व नेता ने क्या क्या कहा मोदी और भारत के लिए देखिए-

डॉनल्ड ट्रंप, राष्ट्रपति, अमेरिका

नरेंद्र मोदी ने अमेरिका की मदद की, मोदी महान और बहुत अच्छे नेता हैं

जैर बोल्सोनारो, राष्ट्रपति, ब्राज़ील

भारत ने ठीक वैसी ही मदद की जैसे हनुमान जी ने संजीवनी लाकर लक्ष्मण की जान बचाई‘ 

बेंजामिन नेतन्याहू, पीएम, इजरायल

इजरायल को HCQ भेजने के लिए शुक्रिया मेरे प्रिय दोस्त नरेंद्र मोदी

जैन थॉम्पसन, भारत में ब्रिटेन की कार्यवाहक उच्चायुक्त

पैरासिटामॉल के निर्यात को मंजूरी देने के लिए पीएम मोदी का शुक्रिया

इब्राहिम मुहम्मद सालिह, राष्ट्रपति, मालदीव

वुहान से मालदीव के 7 लोगों को निकालने के लिए पीएम मोदी का शुक्रिया

टेड्रोस ए. गेब्रेयेसस, निदेशक, WHO

पीएम मोदी का गरीबों के लिए आर्थिक पैकेज दुनिया के सामने सराहनीय कदम

पूरी दुनिया ने न जाने कितने संकट देखें होंगे, पर कोरोना का संकट हर संकटों से भयानक है। ये एक त्रासदी है। पूरा विश्व एक अदृश्य शत्रु के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है। भारत में भी कोरोना अपना कहर बरपाने आया है, लेकिन मोदी सरकार और देश के लोगों के जज्बे के आगे फिलहाल कोरोना को अपने मकसद में कामयाबी नहीं मिल रही है। आज जब पूरा विश्व इससे जूझ रहा है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत मानवता के सबसे बड़े वैश्विक मित्र के रूप में उभर रहा है।

भारत डटकर कर रहा मजबूती से मुकाबला

जब कोरोना के आतंक से अमेरिका और इटली जैसे विकसित देशों में कहर बरपा उसी समय भारत ने अपनी तैयारियों से पूरी दुनिया को अपना प्रसंशक बना लिया है। पूरी दुनिया इस बात को लेकर हैरान है कि आखिर जब अमेरिका जैसा देश कोरोना वायरस के संक्रमण के सामने अपने घुटने टेक चुका है तब ऐसे में भारत ने कैसे इस महामारी को काबू में कर रहा है। भारत में कोरोना के मामले बढ़ जरूर रहे हैं, पर भारत अभी भी कोरोना वायरस जैसी महामारी का मजबूती से मुकाबला कर रहा है।

भारत की तैयारियों को देखकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) पहले ही कह चुका है कि भारत के पास ही वो ताकत है जिसके दम पर वह कोरोना को आसानी से शिकस्त दे देगा। दरअसल WHO ने भारत की तैयारियों के मद्देनजर ये बातें कही और ये सच भी है कि दुनिया में भारत की छवि औरों के मुकाबले कहीं ज्यादा बेहतर आंकी जा रही है।

पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत कोरोना का डटकर मुकाबला तो कर ही रहा है साथ ही पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत मानवता के सच्चे दोस्त के रूप में भी उभर रहा है।

अमेरिका भारत- मोदी का मुरीद

अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि भारत ने इस संकट की घड़ी में जो हमारी मदद की है, उसे कभी भुलाया नहीं जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्‍ट्रपति के साथ सहमति जताते हुए कहा है कि ऐसा मुश्किल समय ही दोस्‍तों को करीब लाता है। चिकित्सा समुदाय के कोविड-19 के इलाज के लिए जूझने के बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा के निर्यात को मंजूरी देने के लिए बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया।

वहीं अमेरिका के व्हाइट हाउस ने अपने ट्विटर हैंडल पर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फॉलो किया। मोदी एकमात्र ऐसे नेता बन गए हैं, जिन्हें व्हाइट हाउस ने फॉलो किया है। व्हाइट हाउस का ट्विटर हैंडल दुनिया के किसी अन्य नेता को फॉलो नहीं करता है।

ब्राजील ने की हनुमान जी से तुलना

ब्राजील के राष्ट्रपति ने सात अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोरोना वायरस के मुद्दे पर चिट्ठी लिखी, जिसमें उन्होंने भारत-ब्राजील की दोस्ती की बात की।

ब्राजील के राष्ट्रपति ने कहा कि संकट के इस समय में जिस तरह भारत ने ब्राजील की मदद की है, वह बिल्कुल वैसा ही है जैसा रामायण में हनुमान जी ने राम के भाई लक्ष्मण की जान बचाने के लिए संजीवनी लाकर किया था। बता दें कि बुधवार को ही देश में हनुमान जयंती का त्योहार मनाया जा रहा था।

पीएम मोदी ने ब्राजील की हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवाई की खेप भेजकर मदद की है। भारत ने कहा था कि जिन देशों को इस हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवाई की सख्त जरूरत है और जहां कोरोना वायरस के मामलों का असर काफी ज्यादा है वहां कुछ निश्चित दवाइयों की सप्लाई की जाएगी।

ब्राजील के राष्ट्रपति ने अपनी चिट्ठी में कहा कि उनके देश में दो लैब हैं जो कोरोना की वैक्सीन बना रही हैं, लेकिन उनकी सप्लाई पूरी तरह से भारत पर निर्भर है, ऐसे में भारत से लगातार मदद की उम्मीद है।

इजरायल ने की सराहना

पीएम मोदी ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा अमेरिका, ब्राजील के बाद इजरायल को भी भेजी। कोरोना संकट के समय दवा भेजने के लिए इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद कहा।

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने मलेरिया रोधी दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन समेत पांच टन सामग्री भिजवाने के लिए पीएम मोदी का आभार जताया।

नेतन्याहू ने ट्वीट किया था, ‘इजरायल को क्लोरोक्वीन भेजने के लिए शुक्रिया, मेरे प्रिय मित्र नरेंद्र मोदी। इजरायल के सभी नागरिक आपको धन्यवाद देते हैं।’

साहसिक कदम उठाने में सक्षम हैं मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी ने जो फैसला लिया, वो फैसला लेने की ताकत डोनाल्ड ट्रंप भी नहीं जुटा पाए और नतीजा सबके सामने है। अब तक लाखों लोग वहां कोरोना के संक्रमण से ग्रसित हैं, यूरोपियन देशों का हाल भी ऐसा ही है। ये पीएम मोदी का व्यक्तित्व ही है जो संकट की इस घड़ी में इतने साहसिक कदम उठाने में सक्षम है। पीएम मोदी कोरोना की इस जंग को खुद नेतृत्व कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यालय खुद कोरोना की मॉनिटरिंग कर रहा है। पीएम के आदेश पर ही पांच मंत्रालयों की एक टीम का गठन किया गया, जो हर रोज देश को कोरोना के ताजा हालात पर अपडेट करता है। पीएम मोदी ने सभी राजनीतिक दलों के फ्लोर लीडर्स को संबोधित करते हुए कहा कि हर जान हमारे लिए कीमती है और हम हर कीमत पर इसे बचाएंगे।

पीएम ने यह भी कहा कि इस जंग में हमें भारी कीमत चुकानी पड़ेगी, लेकिन जान है तो जहान है अर्थव्यवस्था को दोबारा पटरी पर लाया जा सकता है, लेकिन जो जान चली गई उसे दोबारा लौटाया नहीं जा सकता है। मोदी सरकार भारत के साथ-साथ पूरे विश्व के कल्याण के लिए वसुधैव कुटुम्बकम की भावना को सही मायने में चरितार्थ कर रही है।

Share