Explained National

21 दिन देश को संभलना होगा, नहीं तो 21 साल पीछे चले जाएंगे, देश में लॉकडाउन

corona nation lockdown 21 days

घर में रहें, घर में रहें और एक ही काम करें कि अपने घर में रहें

आज रात 12 बजे से पूरे देश में, ध्यान से सुनिएगा, पूरे देश में, आज रात 12 बजे से पूरे देश में, संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है। हिंदुस्तान को बचाने के लिए, हिंदुस्तान के हर नागरिक को बचाने के लिए आज रात 12 बजे से, घरों से बाहर निकलने पर, पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है।– प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

कोरोना वायरस देश में पांव पसारने न पाए इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक सप्ताह के अंदर दूसरी बार राष्ट्र को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि आने वाले 21 दिन हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना से बचने का इसके अलावा कोई तरीका नहीं है, कोई रास्ता नहीं है। कोरोना को फैलने से रोकना है, तो इसके संक्रमण के चक्र को तोड़ना ही होगा।

पीएम ने कहा कि आज रात 12 बजे से संपूर्ण देश में संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान के नागरिक को बचाने के लिए आपके परिवार को बचाने के लिए घरों से बाहर निकलने पर पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है।

आर्थिक कीमत चुकानी होगी, पर देश पहले

पीएम मोदी ने कहा कि इसकी आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी, लेकिन आपके परिवार को बचाना भारत सरकार की, राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की प्राथमिकता है।

21 दिन नहीं संभले तो 21 साल पीछे हो जाएंगे

पीएम मोदी ने कहा कि मैं हाथ जोड़कर प्रार्थना करता हूं कि आप देश में जहां पर हैं वहीं रहें। उन्होंने कहा कि देश में यह लॉकडाउन तीन हफ्ते यानि 21 दिन का होगा। पीएम ने कहा कि आने वाले 21 दिन हर परिवार के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को तोड़ने के लिए 21 दिन का समय काफी अहम है। अगर 21 दिन में नहीं संभले तो आपका परिवार और देश 21 साल पीछे चला जाएगा और कई परिवार हमेशा-हमेशा  के लिए तबाह हो जाएगा।

परिवार के सदस्य के तौर पर कही बात

पीएम ने कहा कि मैं ये बात पीएम के तौर पर नहीं बल्कि परिवार के सदस्य के तौर पर कह रहा हूं। प्रधानमंत्री ने कहा कि आपका निकलने वाला एक कदम कोरोना को घर में ला सकता है। उन्होंने कहा कि शुरुआत में किसी आदमी के संक्रमण का पता ही लगता है।

कोरोना- को-कोई, रो-रोड पर, ना- ना निकलें

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि जो लोग घरों में हैं वो सोशल मीडिया पर बड़े ही इनोवोटिव तरीके से यह बता रहे हैं कि जो हमें भी पसंद आया। इसमें एक बोर्ड उन्होंने दिखाया, जिस पर लिखा था को-कोई, रो-रोड पर, ना- ना निकलें।

सक्षम देशों को भी महामारी ने बेबस किया

पीएम मोदी ने कहा कि साथियों, आप कोरोना वैश्विक महामारी पर पूरी दुनिया की स्थिति को समाचारों के माध्यम से सुन भी रहे हैं और देख भी रहे हैं। आप ये भी देख रहे हैं कि दुनिया के समर्थ से समर्थ देशों को भी कैसे इस महामारी ने बिल्कुल बेबस कर दिया है।

उपाय और विकल्प

पीएम मोदी ने कहा कि उपाय क्या है, विकल्प क्या है? साथियों, कोरोना से निपटने के लिए उम्मीद की किरण, उन देशों से मिले अनुभव हैं जो कोरोना को कुछ हद तक नियंत्रित कर पाए।

पीएम ने बताया कैसे फैलती गई महामारी

सोचिए, पहले एक लाख लोग संक्रमित होने में 67 दिन लगे और फिर इसे 2 लाख लोगों तक पहुंचने में सिर्फ 11 दिन लगे। ये और भी भयावह है कि दो लाख संक्रमित लोगों से तीन लाख लोगों तक ये बीमारी पहुंचने में सिर्फ चार दिन लगे। यही वजह है कि चीन, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, स्पेन, इटली-ईरान जैसे देशों में जब कोरोना वायरस ने फैलना शुरू किया, तो हालात बेकाबू हो गए।

घर के बाहर लक्ष्मण रेखा खींचिए

आपको ये याद रखना है कि कई बार कोरोना से संक्रमित व्यक्ति शुरुआत में बिल्कुल स्वस्थ लगता है, वो संक्रमित है इसका पता ही नहीं चलता। इसलिए ऐहतियात बरतिए, अपने घरों में रहिए। घर में रहें, घर में रहें और एक ही काम करें कि अपने घर में रहें। साथियों, आज के फैसले ने, देशव्यापी लॉकडाउन ने आपके घर के दरवाजे पर एक लक्ष्मण रेखा खींच दी है।

केंद्र-राज्य सरकार मिलकर करेंगे उपाय, लोग दिक्कत में नहीं आएगी

उन्होने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी के बीच केन्द्र और राज्य सरकार निरंतर कोशिश कर रही है कि लोगों को दिक्कत न हो। सभी तरह के उपाय किए गए है और आगे भी किए जाएंगे।

गरीबों के लिए मुश्किल की घड़ी

पीएम मोदी ने कहा कि गरीबों के लिए भी यह घड़ी बहुत मुश्किल वक्त लेकर आई है। हमें इनका भी ख्याल रखना है।

अफवाहों से दूर रहें

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ऐसे समय में जाने अनजाने कई बार अफवाहें भी बहुत जोर पकड़ती है। उन्होंने कहा कि इन बीमारी के लक्षणों के दौरान बिना डॉक्टरों की सलाह के कोई दवा न लें, क्योकि किसी भी तरह का खिलवाड़ आपको जीवन में डाल सकता है। पीएम ने कहा कि 21 दिन का लॉकडाउन लंबा समय है, लेकिन यह आपके जीवन आपके परिवार की रक्षा के लिए किया गया है।

सोशल डिस्टेंसिंग ही एकमात्र विकल्प: मोदी

कुछ लोग इस गलतफहमी में हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग केवल बीमार लोगों के लिए आवश्यक है। ये सोचना सही नहीं। सोशल डिस्टेंसिंग हर नागरिक के लिए है, हर परिवार के लिए है, परिवार के हर सदस्य के लिए है।

पीएम मोदी को विश्वास है कि इसका मुकाबला हर हिन्दुस्तानी न सिर्फ सफलतापूर्वक करेगा बल्कि इस चुनौती से पार भी पाएगा। फिलहाल देश कोरोना से लड़ रहा है मोदी सरकार राज्य सरकारों के साथ मिलकर इस संकट से पार पाने का प्रयास कर रही है और एकजुटता से ही देश इस संकट से निकल पाएगा।

Share