Explained National

आत्मनिर्भर भारत का संकल्प- 20 लाख करोड़ रुपए के विशेष आर्थिक पैकेज

aatma nirbhar bharat

पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान कोरोना वायरस की वजह से देश में लॉकडाउन 4 की घोषणा की। उन्होंने कहा कि 18 मई से देश में लॉकडाउन का चौथा चरण शुरू होगा। पीएम ने कहा कि इसके सभी नियम और गाइडलाइंस 18 मई से पहले जारी किए जाएंगे। गौर करने वाली बात ये है कि 33 मिनट के अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने सबसे अधिक 25 बार आत्मनिर्भर शब्द का जिक्र किया।

आपदा भारत के लिए एक संकेत, एक संदेश, एक अवसर लेकर आई है

पीएम मोदी ने कहा कि ‘‘आज जब दुनिया संकट में है तो हमें अपना संकल्प और मजबूत करना होगा, हमारा संकल्प इस संकट से भी विराट होगा। हम पिछली शताब्दी से ही लगातार सुनते आए हैं कि 21वीं सदी हिंदुस्तान की है। हमने कोरोना से पहले की दुनिया को, वैश्विक व्यवस्थाओं को देखने समझने का मौका मिला है। कोरोना संकट के बाद भी दुनिया में जो स्थितियां बन रही हैं, उसे भी हम निरंतर देख रहे हैं। विश्व की आज की स्थिति हमें सिखाती है कि इसका मार्ग एक ही है, आत्मनिर्भर भारत। हमारे यहां शास्त्रों में भी यही कहा गया है। इतनी बड़ी आपदा भारत के लिए एक संकेत, एक संदेश, एक अवसर लेकर आई है।’’

’’जब कोरोना संकट शुरू हुआ, तब भारत में एक भी पीपीई किट नहीं बनती थी। एन-95 मास्क का भारत में नाममात्र उत्पादन होता था। आज स्थिति यह है कि भारत में ही हर रोज दो लाख पीपीई और दो लाख एन-95 मास्क बनाए जा रहे हैं। हम ऐसा इसलिए कर पाए, क्योंकि भारत ने आपदा को अवसर में बदल दिया। ऐसा करने की भारत की दृष्टि आत्मनिर्भर भारत के हमारे संकल्प के लिए उतनी ही प्रभावी होने वाली है।’’- पीएम मोदी

आत्मनिर्भर भारत अभियान- 20 लाख करोड़ रुपए के विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा

पीएम मोदी ने देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज का ऐलान करते हुए कहा, ”नियमों का पालन करते हुए हम कोरोना से लड़ेंगे भी और आगे भी बढ़ेंगे।”

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा ‘‘देश में डिमांड बढ़ाने और इसे पूरा करने के लिए हमारी सप्लाई चेन के हर स्टेकहोल्डर का सशक्त होना जरूरी है। हमारी सप्लाई चेन को हम मजबूत करेंगे, जिसमें मेरे देश की मिट्‌टी की महक हो। हमारे मजदूरों के पसीने की खुशबू हो। कोरोना संकट का सामना करते हुए नए संकल्प के साथ मैं आज 20 लाख करोड़ रुपए के एक विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा कर रहा हूं। यह आर्थिक पैकेज आत्मनिर्भर भारत अभियान की अहम कड़ी के तौर पर काम करेगा।

20 लाख करोड़ रुपये के विशेष आर्थिक पैकेज आत्मनिर्भर भारत अभियानकी घोषणा

– भारत की कुल जीडीपी का 10% के आसपास

आत्मनिर्भर भारत अभियान में लैंड, लेबर लिक्विडिटी और लॉ पर बल

भारत की आत्मनिर्भरता में संसार के सुख, सहयोग और शांति की चिंता

विश्व के सामने भारत का मूलभूत चिंतन, आशा की किरण नजर आता है। भारत की संस्कृति, भारत के संस्कार, उस आत्मनिर्भरता की बात करते हैं जिसकी आत्मा वसुधैव कुटुंबकम है। भारत जब आत्मनिर्भरता की बात करता है, तो आत्मकेंद्रित व्यवस्था की वकालत नहीं करता। भारत की आत्मनिर्भरता में संसार के सुख, सहयोग और शांति की चिंता होती है।

भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उसे पांच स्तंभ पर खड़ा रहना होगा

पहला – इकॉनमी

दूसरा – इंफ्रास्ट्रक्चर

तीसरा – सिस्टम- 21 शताब्दी की टेक्नोलॉजी पर आधारित

चौथा – डेमोग्राफी- हमारी बड़ी जनसंख्या हमारी ताकत

पांचवा – डिमांड- हमारी अर्थव्यवस्था में डिमांड-सप्लाई की ताकत है

लॉकडाउन का चौथा चरण पूरी तरह नए रंग रूप और नए नियमों वाला

पीएम ने कहा, ”लॉकडाउन का चौथा चरण पूरी तरह नए रंग रूप और नए नियमों वाला होगा। राज्यों से मिल रहे सुझावों के आधार पर लॉकडाउन 4 के लिए गाइडलाइंस तैयार किए गए हैं। इसकी जानकारी 18 मई से पहले दी जाएगी।”

पीएम मोदी ने कोरोना संकट से मजबूती से लड़ते हुए देश को विकास के नए मार्ग पर ले जाने का सकारात्मक संदेश दिया है। साथ पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत के मंत्र का आह्वान करते हुए देश में नई संभावनाओं पर भी बल दिया।

Share